Parents Worship Day
                   - 14th February

            4.5 Million Children Participating Across The Globe So Far.
Monday, September 25, 2017

 

 

 

सी.टी. रवि
उन्नत शिक्षण सचिव एवं दक्षिण कन्न‹ड
जिला .... सचिव
सं. उ. शि. स. २७-२-१२
दूरभाष : कचेरी : २२२५५८२८
२२०३३४६९
रूम नं. ५२५ दूसरा मंजिल
विधानसौध, बैंगळूरू
दिनाँक : ०८-०२-२०१३


टिप्पणी :

विषय - ‘‘भावनामनङ्कङ्क कार्यक्रम मनाने  हेतु

भारतीय संस्कृति में माता-पिता को उच्च स्थान दिया है लेकिन आजकल बच्चों और युवाओं में माता-पिता का आदरभाव कम होता जा रहा है । इसी कारण हर साल १४ फरवरी को राज्य के सभी कॉलेजों में ‘‘भावनामनङ्कङ्क कार्यक्रम का आयोजन करके विद्यार्र्थियों में माता-पिता के  प्रति  आदरभावों को  जागृत करनेवाले वक्तव्य, गीत गायन, निबंध लेखन आदि कार्यक्रम आयोजित करने के लिए सूचना देकर इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सभी कॉलेज के प्राचार्य को जिम्मेदारी देने की सूचना सरकार ने दी है । इस वर्ष के ‘‘भावनामनङ्कङ्क कार्यक्रम को
दिनाँक १४-२-२०१३ को मनाना चाहिए ऐसी सूचना दी है ।
इस सूचना में  निम्नलिखित विषय को विश्वविद्यालय के कुलपति और कॉलेजों के प्राचार्यों को सूचना दिया जाता है । विद्यार्थियों  को इस विषय में उचित रीति से जानकारी दें।


* मातृ देवो भवः पितृ देवो भव उपनिषद वाक्य
* माता-पिता का आदरभाव रखने से पारिवारिक संबंध प्रगा‹ढ बनते हैं ।
* माता खुद कष्ट सहकर भी बच्चों का पालन पोषण करती
* पिता कोई भी कष्ट सहकर बच्चों का पालन पोषण करते हैं उत्तम शिक्षा देकर अच्छा जीवन जीने के लिए मदद करते हैं ।
* माता पिता के इस त्याग की मूल्य निकालना और ऋण चुकाना संभव नहीं ।
* माता-पिता को ठीक से रखें और उनको वृद्धाश्रम में नहीं भेजना चाहिए  । आदरपूर्वक अपने साथ रखना चाहिए ।
* ये सब जिम्मेदारी बच्चों की है इसको संतोषपूर्वक निर्वाह करना चाहिए  ।
* पुत्र  कुपुत्र हो  सकता है  पर माता कुमाता नहीं होती ऐसी आचार्यवाणी है ।
* माता जैसा बंधु नहीं, नमक जैसा स्वाद नहीं ऐसी कहावत है ।
* उक्त विषय पर भावनामन दिवस में माता-पिता को अभिनंदन, धन्यवाद, आदर, समर्पण, अर्पित करने के लिए सभी कालेजों में विविध प्रकार के कार्यक्रमों को भारतीय संस्कृति के अनुसार चलाने के लिए राज्य के सभी सरकारी कॉलेज,अद्र्धशासकीय कॉलेज, इंजी. कॉलेज, पाली टेक्निक कॉलेज, बी.ई.डी. कॉलेज और उन्नत शिक्षण इलाके के नीचे के सब विश्व विद्यालयों को सूचित किया जाता है ।

सरकार के प्रधान कार्यदर्शी (सेक्रेटरी) उन्नत शिक्षा इलाका